जगदलपुर: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के अवसर पर कांग्रेसियों ने भाजपा सरकार के खिलाफ जल जंगल जमीन पर मालिकाना हक के लिए गांधीवादी तरीके से सत्याग्रह किया। इस दौरान कांग्रेसियों ने भाजपा पर जन विरोधी कार्य करने का आरोप भी लगाया।
जगदलपुर विधानसभा क्षेत्र के दरभा जनपद पंचायत क्षेत्र के मावलीपदर ग्राम में क्षेत्र की जनता द्वारा अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी व शांत सौम्य पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के अवसर पर सर्वप्रथम उनके तैल्य चित्र में माल्यार्पण करने के बाद जंगल सत्याग्रह की शुरुआत की गई। कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता सामू कश्यप रेखचंद जैन उमाशंकर शुक्ला मलकीत सिंह सुशील मौर्य सोनसाय कश्यप गागरु राम मोहन कश्यप ने उपस्थित जनों को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार द्वारा वन अधिकार अधिनियम 2006 के कानून को छत्तीसगढ़ में लागू नहीं किया जिससे बस्तर के वनवासियों को इसका लाभ नहीं मिला। वक्ताओं ने कहा कि कांग्रेस की मंशा थी कि वन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को उनका अधिकार मिले और वनोपज संग्रहण करने में भी उनकी प्रमुख भूमिका हो किंतु भाजपा सरकार ने वनवासियों के लिए बनाए गए इस कानून को ही मानने से इंकार कर दिया। इस नीति के कारण वनवासियों को किसी भी प्रकार की आर्थिक लाभ नहीं मिल पा रही है। कांग्रेसी वक्ताओं ने कहा कि वन अधिकार कानून का पालन तभी छत्तीसगढ़ में संभव हो सकेगा जब छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बने इसके लिए सभी कांग्रेसियों को वनवासी भाइयों को जोड़कर और भाजपा की गलत नीतियों को उजागर कर सामने लाना होगा। वक्ताओं ने इस दौरान भारतीय जनता पार्टी की जनविरोधी नीति स्वास्थ्य रोजगार शिक्षा किसान मजदूरों कर्मचारियों की दारुण दशा पर भी अपना प्रकाश डाला। इस दौरान प्रदेश प्रतिनिधि कमल साय कश्यप जिला महामंत्री गौरनाथ नाग अमजद खान वरिष्ठ कांग्रेसी सूर्यनाथ खरे विजय सिंह कुलदीप भदौरिया जाहिद खान पवन कश्यप पदम बेसरा सचिन खरे जयंती नाथ हेमवती बेसरा पद्मा बेसरा चंद्रभान यादव फागूराम मौर्य इमानुएल कश्यप शंभु बेसरा राजेश मोटवानी शंकर नाग राजमन बालक दास चमन बेसरा अनंत बघेल सिबो कश्यप लछीन नाग सहित इस अंचल की वनवासी महिला एवं पुरुष उपस्थित थे।

Untitled-3 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here