श्रावस्ती। शिक्षा मनुष्य के सम्यक विकास के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है अर्थात शिक्षा के बिना मनुष्य का सर्वांगीण विकास संभव नहीं है। शिक्षा के माध्यम से ही मनुष्य ज्ञान की ओर अग्रसर होता है और ज्ञान ही उसकी वैचारिक एवं बौद्धिक क्षमता की वृद्धि करता है। बच्चों को शिक्षा प्रदान करना गुरूजनों का नैतिक कर्तव्य है। यह निस्संदेह देश के विकास के लिए एक उपयोगी कदम है। देश भर में चलाया गया सर्वशिक्षा अभियान इसी दिशा में उठाया गया एक सार्थक कदम है।सर्वशिक्षा अभियान का उद्देश्य राष्ट्रीय विकास के लिए जन-जन तक शिक्षा को पहुँचाना है। जनपद में अभी भी जागरूकता के अभाव में तमाम अभिभावक गण अपने बच्चों को अभी भी स्कूल नही भेजते हैं जो चिन्ता का विषय है उन्हे जागरूक करने की विशेष जरूरत है ताकि जनपद का कोई भी बच्चा शिक्षा की अलख से वंचित न रह जाए। उक्त विचार स्कूली बच्चों द्वारा स्कूल चलो अभियान रैली का शुभारम्भ करने के दौरान जिलाधिकारी दीपक मीणा ने व्यक्त किया। इस रैली में ही स्कूली बच्चों द्वारा जापानी बुखार/मस्तिष्क ज्वर, शौंचालय का निर्माण कराकर उपयोग करना, बाल विवाह की रोकथाम, जनसंख्या नियंत्रण तथा मिशन इन्द्र धनुष के संबध में लोगों को जागरूक किया गया। तदोपरान्त जिलाधिकारी ने छात्र-छात्राओं को यूनीफार्म, बैग एवं पाठ्य पुस्तक प्रदान किया। इस अवसर पर उन्होने अपने सम्बोधन में कहा कि बच्चे देश के भाग्यविधाता है इन भाग्य विधाताओ को शिक्षित करना हम सब का नैतिक दायित्व है प्रदेश सरकार प्राथमिक शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने हेतु प्रतिबद्ध है इसके लिये विशेष प्रयास किया जा रहा है प्राथमिक/जूनियर विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों को मीनू के अनुसार भोजन, निशुल्क पाठ्य पुस्तके एवं यूनीफार्म, बैग, जूता-मोजा मुहैया कराया जा रहा है ताकि अविभावकगण प्रेरित होकर अपने बच्चों को स्कूल भेजे और वे शिक्षित होकर देश का कर्णधार बन सके। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अवनीश राय ने कहा कि यदि गाॅव के शत प्रतिशत बच्चे-बच्चियां शिक्षित होगे तो निश्चित ही गाॅवों का भी सर्वागीण विकास होगा। प्रदेश सरकार स्कूल चलो अभियान चलाकर शत प्रतिशत बच्चों को स्कूल में दाखिला दिलाने हेतु प्रतिबद्ध है, उन्होने लोगो से अपील किया कि वे अपने गाॅव तथा आस पड़ोस में शिक्षा की अलख अवश्य जगाये और यह ध्यान रखे कि कोई भी बच्चा स्कूल जाने से वंचित न रह जाए। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि अशिक्षा लोगो के विकास में बाधक रही है इस लिये शत प्रतिशत लोगो को शिक्षित किये बिना सम्पूर्ण विकास परिकल्पना नही की जा सकती है। सरकार शत प्रतिशत लोगो को शिक्षित करने पर विशेष बल दे रही है एवं छात्र-छात्राओं को निशुल्क पाठ्य पुस्तके, यूनीफार्म एवं भोजन मुहैया करा रही है तो अविभावको का दायित्व बनता है कि वे अपने बच्चों को स्कूल जरूर भेजे। इस अवसर पर जूनियर हाईस्कूल भिनगा में ही आधार नामांकन से वचिंत छात्र-छात्राओं को आधार से जोडने हेतु कार्यक्रम का शुभारम्भ भी किया और जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिया कि खण्ड शिक्षा अधिकारियों के माध्यम से आधार से वंचित बच्चों को सूचीबद्ध कराया जाय तथा रोस्टर बनाकर उन्हे आधार नामांकन से जोड़ा जाए। जिलाधिकारी ने सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि वे अपने-अपने विद्यालयों के खाली पड़ी जमीनों में हर बच्चे से एक वृक्ष अवश्य लगाया जाए ताकि जनपद को और अधिक हराभरा किया जा सके। इस अवसर पर पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रमन सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 वी0के0 सिंह, सभी खण्ड शिक्षा अधिकारीगण, अध्यापक/अध्यापिकाएं एवं स्कूली बच्चे मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन जिला समन्वयक अजीत उपाध्याय ने किया…

प्रदीप गुप्ता

 

Untitled-3 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here