नई दिल्ली । भारतीय रेल ने यात्रियों की सुविधा के लिए हाल ही में वॉट्सऐप हेल्पलाइन नंबर जारी किया था। लेकिन, रेलवे के इस वॉट्सऐप नंबर का लोग गलत इस्तेमाल कर रहे हैं। भारतीय रेल ने यह नंबर यात्रियों की सेवा और गाड़ी के डब्बे की सफाई के लिए जारी किया था। इस हेल्पलाइन को स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने और ट्रेन की साफ-सफाई के लिए जारी किया था।

”गुड मार्निग” मैसेज से रेलवे परेशान

हाल ही में इन हेल्पलाइन नंबरों के गलत इस्तेमाल की घटनाएं सामने आई हैं। 31 जुलाई को वेस्टर्न और सेंट्रल रेलवे ने अपना वॉट्सऐप हेल्पलाइन नंबर 9004499773 और 9987645307 जारी किया था। रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक इन हेल्पलाइन नंबर पर गुड मार्निंग, गुड नाइट और फनी जोक्स, कविताएं आदि भेजे जा रहे हैं। इस हेल्पलाइन नंबर के शुरू होने के 10 दिन बाद अभी तक केवल 25 ही वास्तविक शिकायत दर्ज की गई है। इन शिकायतों में 23 शिकायत वेस्टर्न रेलवे के पास और केवल 2 शिकायतें सेंट्रल रेलवे के पास आई हैं।

वेस्टर्न रेलवे के प्रवक्ता रविन्दर भाकेर ने बताया कि रेलवे ने इस वाट्सऐप हेल्पलाइन के लिए डेडिकेटेड अधिकारी को नियुक्त किया है जो यात्रियों की शिकायतों का जबाब देता है। आपको बता दें कि इस साल जनवरी में जारी किए गए आंकड़े के मुताबिक भारतीय लोग गुड मार्निंग मैसेज भेजने में सबसे आगे हैं। जबकि, नए साल के मौके पर 100 करोड़ से ज्यादा मैसेज एक साथ भेजे गए जिसकी वजह से वाट्सऐप सर्वर क्रैश हो गया था। इसके अलावा फर्जी और भड़काउ मैसेज भेजने में भी भारतीय सबसे आगे हैं। इसलिए, वॉट्सऐप ने अपने फारवर्ड मैसेज के लिए सीमा तय कर दी है। अब कोई मैसेज 5 बार ही फारवर्ड किया जा सकेगा।

IRCTC के जरिए ऑनलाइन रेलवे टिकट बुकिंग में पिछले साल काफी इजाफा देखा गया है। भारतीय रेलवे के मुताबिक, वित्त वर्ष 2016-17 में ऑनलाइन रिजर्वेशन कराने वालों की संख्या 60 फीसद थी जो वित्त वर्ष 2017-18 में बढ़कर 66 फीसद तक पहुंच गई है। आप ऑनलाइन रिजर्वेशन के साथ-साथ जनरल टिकट भी ऑनलाइन या ऐप से बुक कर सकते हैं। 

 

source by jagran

19ff8342-3586-423e-b8e8-4e82eb9d1ab4
pg
2

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here