मुरसलीम खान

छतरपुर। बड़ामलहरा अनुविभाग अंतर्गत भगवां निवासी दुबे परिवार के सूने घर से हुई लाखों की चोरी से पुलिस ने पर्दा उठाया है। इस चोरी का मास्टर माइंड और कोई नहीं बल्कि हायर सेकेण्डरी स्कूल भगवां में पदस्थ बाबू निकला। एसडीओपी पीके सारस्वत ने मामले का खुलासा किया है। चोरी सहित अन्य अपराधों से जुड़े सात लोग गिरफ्तार किए गए हैं। आरोपियों के कब्जे से चोरी का सामान भी बरामद कर लिया गया है। एसडीओपी पीके सारस्वत ने मीडिया के सामने लाखों की चोरी का खुलासा करते हुए बताया कि 4 अगस्त की घटना को एक चुनौती मानते हुए खुलासे के लिए टीम गठित की गई थी। करीब साढ़े तीन सौ मोबाइल नंबरों को ट्रेस करवाकर मास्टर माइंड तक पहुंचने में मदद मिली है।

उन्होंने बताया कि बाबू चक्रेश जैन पुत्र शिखचन्द्र जैन, अरविंद सेन पुत्र गोकुल सेन, जयहिंद सिंह पुत्र गुलाब सिंह, आकाश उपाध्याय पुत्र कामता प्रसाद उपाध्याय, इस्माइल खां पुत्र गनी खां महोबा, सोहेल खां पुत्र अनीस खां तथा देशराज सिंह निवासी ललौनी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। इस पूरे खुलासे में भगवां थाना प्रभारी एसएन भगत, उपनिरीक्षक अरूण पुरोहित, जसवंत सिहं थाना प्रभारी पिपट, आरक्षक सतेन्द्र सिंह, ब्रजेश यादव, सतेन्द्र अहिरवार, जाहर सिहं यादव, सतेन्द्र त्रिपाठी, किशोर रैकवार, साईबर सेल से शैलेन्द्र सिंह का विशेष योगदान रहा। एसडीओपी के मुताबिक मामले के खुलासे के लिए साईबर सेल सहित अन्य माध्यमों से जांच की जा रही थी। मोबाइल नंबरों को ट्रेस करने के दौरान महोबा के इस्माइल खां पुत्र गनी खां की चक्रेश जैन से हुई बातचीत सामने आई इस्माइल खां तिहरे हत्याकाण्ड सहित एक करोड़ की डकैती और हत्या के मामले में आरोपी है। वर्तमान में वह जमानत पर था। इस्माइल को दबोचने के बाद उससे पूछताछ करने पर चक्रेश जैन को पकड़ा गया। इसी तरह एक के बाद एक आरोपी गिरफ्तार होते गए। आरोपियों ने भगवां में जागेश्वर द्विवेदी के मकान से चोरी करने की बात स्वीकारी है। 

Untitled-3 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here