बेंगलुरु: वरिष्ठ पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश की हत्या मामले में पुलिस ने एक और संदिग्ध को गिरफ्तार किया है। मंगलवार को पुलिस ने एसआइटी ने विजयपुरा जिले के सिंधागी से 26 वर्षीय परशुराम वाघमारे को गिरफ्तार किया। पत्रकार गौरी लंकेश की पिछले वर्ष 5 सितंबर को उनके घर के सामने ही गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में यह अब तक छठी गिरफ्तारी की है।

हालांकि पुलिस ने इस बात का अनुमान खारिज किया है कि गिरफ्तार किए गए संदिग्ध ने ही गौरी लंकेश की हत्या की थी। पुलिस ने मंगलवार को पकड़े गए आरोपी को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया, जहां से उसे पूछताछ के लिए 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिा गया है। इसके अलावा एसआईटी ने उसके साथी सुनील अगासरा को भी गिरफ्तार कर लिया है। 26 वर्षीय वाघमोरे को श्री राम सेना का सदस्य बताया जा रहा है।

पूरे मामले पर पुलिस महानिरीक्षक बीके सिंह ने बताया कि जांच में ऐसा कुछ भी सामने नहीं आया है जिससे पता चले कि वाघमारे ने ही लंकेश की हत्या की थी। मीडिया में वाघमारे को हत्यारा बताया जाने के अनुमान पर पुलिस महानिरीक्षक ने कहा कि पुलिस की जांच में अभी ऐसा कुछ भी सामने नहीं आया है।

आपको बता दें कि 5 सितंबर, 2017 को लंकेश पत्रिका की संपादक गौरी लंकेश की हत्या उनके घर के बाहर कर दी गई थी। वरिष्ठ पत्रकार और समाजसेवी गौरी लंकेश के हत्याकांड मामले में एसआईटी को 5 महीने बाद पहली कामयाबी मिली थी। इस मामले में 37 वर्षीय व्यापारी केटी नवीन कुमार को विशेष जांच दल ने गिरफ्तार किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here