जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ (केंद्रीय आरक्षित पुलिस बल) के काफ़िले पर हुए आतंकी हमले की आंच क्रिकेट तक भी पहुंच रही है. भारतीय क्रिकेट जगत से मांग उठी है कि विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट के दाैरान भारत को पाकिस्तानी टीम का बहिष्कार करना चाहिए. याद दिलाते चलें कि इस बार विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट इंग्लैंड में हाे रहा है. इसके लिए 100 दिन से भी कम समय बचा है.

बीसीसीआई सूत्रों के मुताबिक, “इसे लेकर कुछ समय बाद स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) का इससे कोई लेना-देना नहीं है। अगर हमारी सरकार को लगता है कि हमें पाक से नहीं खेलना चाहिए, तो जाहिर है कि हम नहीं खेलेंगे।” इंग्लैंड और वेल्स में 30 मई से 14 जुलाई तक वर्ल्ड कप के मैच खेले जाएंगे।

सूत्रों के मुताबिक, “अगर पाकिस्तान से मैच नहीं होता है तो उसे अंक मिल जाएंगे। वहीं, फाइनल में भारत-पाक का सामना हुआ और टीम इंडिया नहीं खेली तो पाकिस्तानी टीम बिना खेले ही चैम्पियन बन जाएगी।” भारत-पाक की टीमें पिछली बार आईसीसी टूर्नामेंट में चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान आमने-सामने हुई थीं। तब फाइनल जीतकर पाक टीम चैम्पियन बनी थी।

दूसरी ओर, आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) डेव रिचर्डसन ने इस मामले पर ईएसपीएन क्रिकइन्फो से बात की। उन्होंने कहा, “हमें अभी तक दोनों बोर्ड की ओर से मैच नहीं खेलने को लेकर कोई सूचना नहीं मिली है। साथ ही हमने भी दोनों बोर्ड को इस मामले में कुछ नहीं लिखा।”

भारतीय टीम के फिरकी गेंदबाज़ हरभजन सिंह ने एक चैनल से बातचीत के दौरान कहा, ‘पाकिस्तान से कोई संबंध रखने की ज़रूरत नहीं है. सिर्फ़ क्रिकेट की बात नहीं है. भारतीय टीम को आने वाली 16 जून को पाकिस्तान से विश्व कप क्रिकेट का मैच नहीं खेलना चाहिए. इस मैच के प्वाइंट हाथ से चले जाने की भी चिंता नहीं करनी चाहिए. भारतीय टीम इतनी मज़बूत है कि पाकिस्तान से मैच खेले बिना विश्व कप जीत सकती है.’ हरभजन ने कहा, ‘हम सबके लिए देश पहले आता है. हम सभी अपनी सेनाओं के साथ खड़े हैं. पाकिस्तान सीमा पार से आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है. यह हमला (पुलवामा हमले में 42 सीआरपीएफ जवानों की मौत हुई है) तो बड़े सदमे से कम नहीं है..

रिचर्डसन ने कहा, “हमारी संवेदनाएं इस घटना से प्रभावित हुए लोगों के साथ है। हम बीसीसीआई और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) सहित अपने सदस्यों के साथ स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। फिलहाल वर्ल्ड कप के तय कार्यक्रम के अनुसार भारत-पाक मैच सहित किसी भी अन्य मुकाबले के नहीं खेले जाने के कोई संकेत नहीं है।”

रिचर्डसन ने कहा, “भारत-पाक मैच के टिकट के लिए सबसे ज्यादा चार लाख आवेदन मिल चुके हैं। हालांकि, ओल्ड ट्रैफर्ड (मैनचेस्टर) की दर्शक क्षमता सिर्फ 25 हजार है। इससे कई लोगों को निराशा होगी। दर्शक सिर्फ इंग्लैंड से ही नहीं, बल्कि अन्य देशों से भी यह मैच देखने आने वाले हैं। ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड मैच के टिकट के लिए ढाई लाख और फाइनल मुकाबले के लिए 2 लाख 60 हजार से ज्यादा आवेदन मिले हैं।”

Untitled-3 copy
1
Untitled-1 copy
Untitled-1 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here