रायपुर : छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव 2018 के पहले चरण के मतदान से कुछ  दिनों पहले सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका लगा है। सतनामी समाज के गुरु बलदास अपने बेटे खुशवंत साहेब और सैकड़ों समर्थकों के साथ कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए हैं। बता दें कि राज्य में पहले चरण में 12 नवंबर को वोटिंग होनी है। 

छत्तीसगढ़ में सतनामी समाज राजनीतिक पार्टियों के लिए बड़ा वोट बैंक है। कुल वोटों में इस समाज की 14 से 16 प्रतिशत की हिस्सेदारी है। बता दें कि हाल ही में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने छत्तीसगढ़ का दौरा किया था और इस दौरान उन्होंने गुरु बलदास से मुलाकात करते हुए सतनामी समुदाय का समर्थन मांगा था। ऐसे में उनके कांग्रेस के खेमे में जाने को बड़े सियासी घटनाक्रम के तौर पर देखा जा रहा है। 

अपने फैसले के बारे में जानकारी देते हुए गुरु बलदास ने कहा कि बीजेपी ने समाज के लोगों का सम्मान नहीं किया, इसलिए उन्होंने कांग्रेस पार्टी जॉइन की है। उन्होंने साथ ही कहा कि आने वाले दिनों में अन्य लोगों से भी वह कांग्रेस का समर्थन करने की अपील करेंगे। 

जहां एक ओर कांग्रेस ने इस फैसले का स्वागत किया है, वहीं दूसरी ओर यह भी कहा कि किसी धार्मिक नेता के उनकी पार्टी में शामिल होने से उनके वोट बैंक पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। गुरु बलदास की कांग्रेस में एंट्री के बाद पार्टी छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में उलटफेर करते हुए अहम चुनाव में जीत की उम्मीद कर रही है। दिलचस्प बात यह है कि कांग्रेस में पहले से ही सतनामी समाज के एक नेता रुद्र गुरु मौजूद हैं। 

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में दो चरण में मतदान होना है। पहले चरण में माओवाद प्रभावित राज्य के दक्षिणी इलाके की 18 सीटों पर 12 नवंबर को वोटिंग होगी। दूसरे चरण में बाकी 78 सीटों पर मतदान 20 नवंबर को होगा। सभी 90 सीटों पर वोटों की गिनती 11 दिसंबर को की जाएगी। 

 

source by NBT

Untitled-3 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here