डोंगरगांव : राजनांदगांव लोकसभा क्षेत्र के डोंगरगांव में शुक्रवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रैली को संबोधित करते हुए विधायक भीमा मंडावी की हत्या को राजनीतिक षड़यंत्र बताया। उन्होंने कहा कि अतंकवादियों के साथ कांग्रेस पार्टी ईलू-ईलू कर सकती है, भाजपा नहीं। पहले आलिया मालिया जमालिया बॉर्डर पार कर आते थे और जवानों के सिर काटकर ले जाते थे। तब मौनी बाबा की सरकार थी। अब संभव नहीं है। पुलवामा अटैक के बाद शहीदों की तेरहवीं के दिन ही पीएम मोदी ने एयरफोर्स को आदेश दिया और उन्होंने पाकिस्तान में घुसकर आतंकियों के ठिकानों को नेस्तोनाबूत कर दिया। देश में आनंद छा गया। शहीदों की तस्वीरों पर मालाएं चढ़ाई।

शाह ने कहा कि पाकिस्तान में स्थित आतंकियों के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक के बाद बस दो स्थानों पर मातम था। एक पाकिस्तान और दूसरा कांग्रेस पार्टी का दफ्तर जहां राहुल बाबा उदास थे। उमर अब्दुल्ला कश्मीर में दूसरा पीम चाहते हैं। जब राहुल बाबा से इस संबंध में पूछा गया कि अब्दुल्ला की बात से सहमत हैं या नहीं तो वे कुछ नहीं बोले।

अमित शाह ने कहा कि दंतेवाड़ा में भाजपा विधायक भीमा मंडावी की हत्या की जितनी डिटेल बाहर आती हैं, उससे पता चलता है कि ये कोई सामान्य घटना नहीं है। इसमें राजनीतिक षडयंत्र की बू आती है। शाह ने कहा कि आज इस सभा के भीतर राज्य के सीएम से कहना चाहता हूं कि मंडावी की हत्या की जांच सीबीआई को देकर न्यूट्रल जांच करा दीजिए, जिससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाए। 

शाह ने कहा कि कांग्रेस की सरकार राज्य में आते ही सीबीआई को बैन कर दिया गया। इससे पहले की भाजपा सरकार ने तो बैन नहीं किया था। उन्हें डर नहीं था। इन्हें डर क्यों लग रहा है। अब सइयां भए कोतवाल तो डर काहे का। अब राज्य की पुलिस और व्यवस्था इनकी है। इनसे डर नहीं है। डर तो सीबीआई से है।

source by DB

Untitled-3 copy
1
Untitled-1 copy
Untitled-1 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here