दंतेवाड़ा : जिंदल कंपनी के सर्वे का काम देखने वाले ठेकेदार गणेश नायडू को शहीद सप्ताह के दौरान नक्सलियों ने फोन कर बुलाया और इसके बाद जन अदालत लगाकर उनकी गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई प्राप्त जानकारी के मुताबिक दंतेवाड़ा जिले के परसपाल रोड में स्थित पड़ेबार गांव के बाहर कामालूर इलाके में नक्सलियो ने इस घटना को अंजाम दिया गणेश नायडू की हत्या करने के बाद जिंदल कंपनी कि जिस गाड़ी में नक्सलियों से मिलने गए थे उस गाड़ी को भी जला दिया । प्राप्त सूत्रों के अनुसार लौह अयस्क खदान की लीज स्वीकृति से पहले
ड्रिलिंग के जरिए पूर्वक्षण का काम जिंदल कंपनी कर रही है। इससे पूर्व भी कंपनी के मशीनों में आगजनी एवं मजदूरों की बेदम पिटाई की बात सामने आई है। गणेश नायडू जिंदल कंपनी के ठेकेदार थे वह कई वर्षों से सुकमा कोंटा दंतेवाड़ा के कई इलाकों में कार्य कर रहे थे। बताया जा रहा है कि लंबे समय से जगदलपुर में रह रहे गणेश नायडू मूलत: आँध्र प्रदेश के रहने वाले हैं। इनका परिवार प्रारंभ से ही खनन के व्यवसाय से जुड़े हुए हैं। वर्तमान में गणेश नायडू बैलाडिला की पहाड़ियों में जिंदल स्टील को आवंटित लौह अयस्क खदान में ठेके में प्रॉस्पेक्टिंग का कार्य कर रहे थे। बता दें कि झीरम घाटी नक्सलियों हमले में कांग्रेस के अनेक नेताओं का हत्या किया गया था उसमें से शहीद महेंद्र कर्मा के बेहद करीबी जाने जाते थे।

फोन पर ब्लास्ट न्यूज़ से खास बातचीत के दौरान इस वारदात की पुष्टि करते एसपी दंतेवाड़ा अभिषेक पल्लव ने बताया कि डीआरजी के जवानों को घटनास्थल के लिये रवाना किया गया था जहां जवानों ने शव बरामद की तत्पश्चात पोस्टमार्टम हेतु जिला अस्पताल मैं पहुंचाया गया। साथ ही मृतक ठेकेदार की मोबाइल मिसिंग थी बताया गया की नक्सली मोबाइल अपने साथ लेकर गए है।

Untitled-3 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here