मुरसलीम खान

छतरपुर। कमिश्नर मनोहर दुबे ने मंगल ग्राम अवधारणा पर राज्य आनंद संस्थान के मास्टर ट्रेनर्स के साथ सागर में अपने आवास पर विचार विमर्श करते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति तभी पूर्णत: सुखी हो सकता है, जब वह अपने अंतर्मन की आवाज सुनकर जीवन में निर्णय लेकर व्यवहार करता है। पर आदमी अंतर्मन की बजाय सुविधा के आधार पर निर्णय कर रहा है, और परिणाम स्वरूप व्यक्ति के खुद के जीवन और समाज में तनाव के लक्षण दिख रहे हैं। व्यक्ति निरंतर अभ्यास के माध्यम से अंतरमन की आवाज सुनकर निर्णय करने के लिए सक्षम बन सकता है। एक बार समाज में बहुसंख्यक व्यक्तियों में यह प्रवृत्ति बन जाने के बाद समाज के वातावरण में सकारात्मक परिवर्तन निश्चित रूप से आएगा, उपरोक्त धारणाओं को ध्यान में रखते हुए मंगल ग्राम की परिकल्पना को समाज के संपूर्ण विकास के लिए आकांक्षी नागरिकों के सहयोग से छतरपुर जिले के 11 ग्रामों में लागू किया जा रहा है।
मंगल ग्रामों में स्टेट मास्टर ट्रेनर प्रदीप महतों के साथ अल्पविराम से जुड़े छतरपुर जिले के आनंदम सहयोगी और आनंदक भी ग्रामीणों के साथ अल्पविराम में शामिल होंगे जिनमें प्रदीप सेन, अनिल सोनी, योग गुरु रामकृपाल यादव, रिटायर्ड पीओ डूडा सुभाष अग्रवाल, रिटायर्ड जिला योजना अधिकारी एसके गुप्ता, रिटायर्ड एसएलआर आरबी वर्मा, रिटायर्ड ज्वाइंट कलेक्टर ओमप्रकाश सोनी, एडवोकेट संजय शर्मा, वरिष्ठ अध्यापक आरबी पटेल, प्रधानाध्यापक पवन बिरथरे, केएन सोमन विपिन अवस्थी अंजू अवस्थी आशा असाटी नीलम पांडे भी शामिल होंगे। प्रत्येक ग्राम पंचायत में सुबह 11 बजे अल्पविराम से मंगल ग्राम कार्यक्रम की शुरुआत होगी, 3 बजे गांव में मंगल संपर्क किया जाएगा और शाम 6 बजे से मंगल सभा होगी दूसरे दिन सुबह 7 बजे से आत्मा पोषण का सत्र आयोजित होगा।
आज ग्राम देरी से शुरु हो रही है मंगल ग्राम परियोजना
कमिश्नर दुबे ने राज्य आनंद संस्थान के राज्य समन्वयक हिमांशु भारत, लखनलाल असाटी छतरपुर, रमेश कुमार व्यास दमोह, यूबीएस गौर सागर के साथ 11 फरवरी से छतरपुर जिले की देरी ग्राम से शुरू हो रहे मंगल ग्राम कार्यक्रम की अवधारणा पर विस्तार से चर्चा की और इसकी सफलता के लिए अपनी शुभकामनाएं भी दी। उल्लेखनीय है कि छतरपुर जिले की 11 ग्राम पंचायतों को मंगल ग्राम परियोजना में शामिल किया जा रहा है और यह पूरा कार्यक्रम जनसहयोग से पूरा किया जाएगा जिसमें छतरपुर विधायक आलोक चतुर्वेदी, डॉ सुभाष चौबे, डॉ राजेश अग्रवाल, डॉ एमपी एन खरे, व्यवसाई राधेलाल असाटी सराफ आदि नागरिक आर्थिक सहयोग कर रहे हैं।

Untitled-3 copy
Untitled-1 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here