बीजापुर: राष्ट्रीय स्तर पर बच्चों की प्रतिभा को निखारने हेतु महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की पहल कार्यक्रम “हौसला” 2018 का आयोजना दिल्ली में किया गया था जिसमें देश के सभी राज्यों के बच्चे ने भाग लिया था, इसी कड़ी में बीजापुर जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र भैरमगढ़ तहसील के अंतर्गत पंचशील आश्रम कुटरु के छात्रा एवं छात्र ने संभागीय स्तर में क्वालीफाई करते हुए दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम हौसला 2018 में कक्षा 8वीं में अध्ययनरत बालिका कुमारी ललिता कुरसम पिता स्वर्गीय माशा कुरसम उम्र 13 वर्ष,, एवं बालक विनोद वाचन पिता स्वर्गीय सायबी वाचन ने अपना स्थान बनाया,,ऊंची कूद हेतु ललिता कुरसम ने स्वर्ण पदक एवं लंबी कूद में तृतीय स्थान प्राप्त करते हुए कांस्य पदक जीत कर सभी प्रतिभागियों को पीछे छोड़ते हुये राज्य एवं जिले का नाम रोशन किया जबकि बालक विनोद वाचम ने रिलेरेश 400 मीटर के लिए तीसरे राउंड में जीत से पीछे रह गए और वह पदक हासिल करने से चूक गए,, ज्ञात हो कि बालिका एवं बालक को प्रशिक्षण दे रहे कोच कुँवर सिंह मज्जी की भूमिका भी अहम है, श्री मज्जी ने बच्चों की प्रतिभा को समझते हुए रात दिन एक कर प्रशिक्षण दिया और इस लक्ष्य को हासिल करने में सफलता प्राप्त की,, जिसके बाद परिणाम आप लोगों के समक्ष है। इसी तारतम्य में पंचशील आश्रम संस्था छत्तीसगढ़ समाज संरक्षण एवं विकास समिति के द्वारा नक्सल हिंसा से पीड़ित परिवारों के बच्चों का उज्जवल भविष्य के लिए शिक्षा-दीक्षा के लिए प्रतिबद्ध रहा है। संस्था में अध्ययनरत बालिका ललिता के पिता को भी नक्सलियों ने बेरहमी से हत्या किया था,, इसके बाद श्री के.मधुरकर राव ने नक्सली पीड़ित बच्चों के लिए सन 2008 को एन.जी.ओ. / छ.ग.स.संर. एवं वि.समिति / बनाकर पंचशील बालक बालिका आश्रम प्रारंभ किया। जिसके परिणाम स्वरूप आज संस्था में अध्ययनरत बच्चे सफलता के नए इबारत लिख रहे हैं। कुमारी ललिता के अलावा उनके दो भाई भी मेघावी छात्र रहे है,, जो संस्था में रहकर कक्षा दसवीं में जिले के मैरिड वरीयता क्रम में तीसरे स्थान पर थे जो आज प्रयास विद्यालय में अध्ययनरत है। इस उपलब्धि के बाद पंचशील आश्रम परिवार एवं क्षेत्रवासियों की ओर से हार्दिक शुभकामनाएं तथा उनके उज्जवल भविष्य के लिए मंगलकामनाएं किया जा रहा है।

Untitled-3 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here