नई दिल्ली : चिटफंड घोटाले के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने यहां रविवार को कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से लगातार दूसरे दिन पूछताछ की। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। 

अधिकारी ने नाम नहीं उजागर करने की शर्त पर आईएएनएस को बताया कि जांच एजेंसी कुमार से तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद कुणाल घोष के साथ आमने-सामने बैठाकर पूछताछ कर सकती है, जिन्हें भी रोज वैली और शारदा चिट फंड घोटाले के मामले में यहां ओकलैंड में सीबीआई कायार्लय में पेश होने के लिए समन भेजा गया है। 

घोष, जिन्हें नवंबर 2013 में गिरफ्तार किया गया था और 2016 में जिन्हें कलकत्ता उच्च न्यायालय ने अंतिरम जमानत दे दी थी, वह सुबह 10 बजे कायार्लय पहुंचे, जबकि कुमार आधा घंटा बाद पहुंचे। अधिकारी ने कहा, “हमारी जांच टीम दोनों से पूछताछ करेगी।” सीबीआई ने घोटालों से जुड़े “महत्वपूर्ण दस्तावेजों को रोक लेने और उनके साथ छेड़छाड़ करने” के संबंध में कुमार से शनिवार को आठ घंटे तक पूछताछ की थी।

सवोर्च्च न्यायालय के निदेर्श पर कुमार गुवाहाटी के रास्ते कोलकाता से शुक्रवार शाम शिलांग पहुंचे। अदालत ने पांच फरवरी को मामले की सुनवाई करते हुए उन्हें शिलांग में सीबीआई जांच में शामिल होने का निदेर्श दिया था। उनके साथ कोलकाता पुलिस के तीन अन्य वरिष्ठ अधिकारी -अतिरिक्त पुलिस आयुक्त जावेद शमीम, एसटीएफ प्रमुख मुरलीधर शर्मा और सीआईडी प्रमुख प्रवीण कुमार त्रिपाठी हैं।

कुमार के वकील बिश्वजीत देब ने शनिवार रात मीडिया से कहा, “सहयोग नहीं करने का कोई सवाल ही नहीं है। उन्होंने पहले भी सहयोग किया है और अब भी कर रहे हैं। सवोर्च्च न्यायालय के आदेश के कारण हम यहां हैं।”  मेघालय पुलिस कुमार को पयार्प्त सुरक्षा प्रदान कर रही है, जबकि ओकलैंड स्थित सीबीआई कायार्लय मेघालय पुलिस विशेष बल 10 की तैनाती के साथ एक किले में तब्दील हो गया है।

Untitled-3 copy
Untitled-1 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here