नई दिल्ली : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के अध्यक्ष के सिवन ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस करते हुए जानकारी दी कि गगनयान मिशन की तैयारी जारी है। उन्होंने कहा कि यह मिशन ISRO के लिए एक अहम टर्निंग प्वाइंट साबित होगा। उन्होंने बताया कि भारत के चंद्र मिशन, चन्द्रयान-2 की योजना अप्रैल के मध्य में तय की गई है।

न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, के. सिवन ने कहा कि इस मानव रहित मिशन को आंतरिक्ष में भेजने के लिए लक्ष्य दिसंबर 2020 और जुलाई 2021 तय किया गया है। 

इसरो अध्यक्ष ने कहा कि गगनयान के लिए शुरुआती ट्रेनिंग भारत में की जाएगी। वहीं, रूस में एडवांस्ड ट्रेनिंग की जा सकती है। उन्होंने जानकारी दी कि टीम में महिला अंतरिक्ष यात्री भी होंगी। यही हमारा उद्देश्य है।

के सिवन ने जानकारी दी कि हम पूरे देश में छह ऊष्मायन और अनुसंधान केंद्र स्थापित करेंगे। हम भारतीय छात्रों को इसरो में लाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि भारतीय छात्रों को नासा जाने की आवश्यकता क्यों है? 

Untitled-3 copy
1
Untitled-1 copy
Untitled-1 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here