नई दिल्ली : सीबीएसई की 12वीं कक्षा की परीक्षाएं शुक्रवार से शुरू हो रही और यह तीन अप्रैल तक चलेंगी जबकि दसवीं कक्षा की परीक्षाएं 21 फरवरी को शुरू होंगी और 29 मार्च को खत्म होंगी। सीबीएसई की मानें तो पिछले तीन-चार साल में देखा गया है कि अधिकतर छात्र परीक्षा में उत्तर लिखने में शॉर्टकट का इस्तेमाल करते हैं। इसका असर उनके अंक पर पड़ता है। 

सीबीएसई की अध्यक्ष अनिता करवाल ने बोर्ड परीक्षाओं से पहले छात्रों को अनूठे अंदाज में संदेश दिया है। उन्होंने छात्रों से कहा कि पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करते हुए अपने दिमाग के ‘वेब ब्राउजर को खोलें, दक्षताओं और जीवन कौशलों को ”डाउनलोड करें तथा ध्यान भटकाने वाली सभी चीजों को ”फायरवॉल (कम्प्यूटर की सुरक्षा के लिए प्रयुक्त सॉफ्टवेयर) करें तथा परीक्षाओं को अपनी जिंदगी के यूआरएल की तरह समझें। 

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं और 12वीं की परीक्षा के दौरान परीक्षार्थी के सामने प्रश्न पत्र खोला जायेगा। बोर्ड ने इस बार प्रश्न पत्र केंद्र पर खोलने के सिस्टम में बदलाव किया है। इसकी जानकारी तमाम परीक्षा केंद्रों को दे दी गयी है। 

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की परीक्षाएं शुक्रवार से शुरू होने जा रही हैं। सीबीएसई ने क्रिएटिव आंसर लिखने पर अंक दिए जाने की बात कही है। यह व्यवस्था बोर्ड ने पहली बार शुरू की है। 

कल से सीबीएसई बोर्ड परीक्षा शुरू हो रही है। कक्षा 10 और 12 के 31 लाख से अधिक छात्र व छात्राएं इस साल बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होंगे। छात्रों पर दवाब कम करने के लिए बोर्ड ने घोषणा की है कि 33 फीसदी अधिक आंतरिक विकल्प प्रश्न होंगे और वह ‘रचनात्मक जवाबों’ को अधिक ‘प्राथमिकता’ देगी। 

 

source by LH

Untitled-3 copy
1
Untitled-1 copy
Untitled-1 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here