गरियाबंद। जिले के सुपेबेडा में किडनी बीमारी से हो रही लगातार मौत को लेकर भाजपा के जिला उपाध्यक्ष अनिल चंद्राकर ने कहा है कि सुपेबेड़ा में तो कांग्रेस ने विपक्ष का धर्म निभाया। अब सत्ता में आ गए हैं इसका भी धर्म निभाना चाहिए। विपक्ष में रहते हुए कांग्रेस ने कहा था कि किडनी बीमारी से मौत पर सरकार गंभीर नहीं है लेकिन खुद सत्ता में आ गए अब गंभीरता दिखानी चाहिए।

उन्होने कहा कि यहां के लोगों को स्वास्थ सुविधा मुहैया कराने के मामले में राज्य की कांग्रेस सरकार गंभीर नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि अब कांग्रेसी सुपेबेड़ा की चिंता छोड़ दिए हैं। यहां दौरा करने को लेकर कतरा रहे हैं कांग्रेस के नेताओं ने कहा था कि प्रत्येक परिवार को पांच लाख रुपया दिया जाना चाहिए और पीड़ित परिवार को नौकरी देने की पुरजोर वकालत की गई थी। अपनी मांगों पर अमल करना चाहिए क्योंकि यहां के किडनी प्रभावित ग्रामीण इसका इंतजार कर रहे हैं।

अनिल चंद्राकर ने कहा कि अब तक 69 लोगों की मौत हुई है। उस हिसाब से तीन करोड़ 45 लाख रुपए सहायता राशि जल्द मुहैया कराया जाना चाहिए। किडनी प्रभावित लोगों को राज्य सरकार की सहायता का इंतजार है। राजिम क्षेत्र का दौरा करने के बजाय मुख्यमंत्री को किडनी प्रभावित ग्राम सुपेबेड़ा का दौरा करना चाहिए।

उन्होने कहा कि शासन-प्रशासन से अपेक्षा है कि शीघ्र ही किडनी पीड़ित परिवारों को सहायता राशि और नौकरी देने के लिए सर्वे करना चाहिए और पीड़ित लोगों को कैसे बेहतर स्वास्थ सुविधा मिल सके इस दिशा में कारगर कदम उठाना होगा तभी सुपेबेड़ा किडनी जैसी बीमारी से मुक्त हो पाएगा।

 

source by cga

Untitled-3 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here