अंबिकापुर : मुख्यालय से 50 किमी दूर उदयपुर इलाके में दल से बिछड़े एक हाथी से तड़के एक महिला और एक पुरूष को कुचलकर मार डाला। हाथी परसा गांव में घटना को अंजाम देने के बाद बासेन गांव की ओर निकला है। इससे इलाके में ग्रामीणों के बीच भारी दहशत है। हाथी ने 72 घंटे के भीतर दो सूरजपुर में और दो लोगों को उदयपुर इलाके में कुचलकर मार डाला है। हाथी को नियत्रित करने में वन अमला भी पस्त नजर आ रहा है। 

प्रेमनगर वन परिक्षेत्र की ओर से उदयपुर वन परिक्षेत्र में आए हाथी ने मंगलवार सुबह 4:30 बजे के करीब परसा गांव में 19 वर्षीय अहिल्या बाई को कुचलकर मार डाला। वो शौच के लिए निकली थी। अहिल्या ईंट भट्‌ठे पर मजदूरी करती थी। इसके बाद आगे बढ़कर हाथी ने इसी इलाके में अटेम नदी के पास बंधन मंझवार (60) को कुचलकर मार दिया। हाथी ने बंधन और उसकी पत्नी दोनों को दौड़ाया। बंधन के विपरीत दिशा में भागी उसकी पत्नी बुधनी की जान बच गई।

उदयपुर वनक्षेत्र के करमकठरा के जंगल में पिछले कई दिनों से 7 हाथियों के दल ने डेरा जमा लिया है। इसी बीच दल से बिछड़े हाथी के आतंक से पूरा इलाका दहशत में है। इस हाथी के लिए एक दिन में 40-50 किमी का सफर तय करना सामान्य बात है। ऐसे में सायर,उदयपुर, डांडगांव, बासेन सर्किल के सभी बीटों में अलर्ट जारी किया गया है। वन अमला ग्रामीणों को सतर्क कर रहा है।

वन अमला ग्रामीणों को समझाइश दे रहा है कि वे घर में ढोलक जैसे वाद्य यंत्र, थाली और बर्तन को बजाकर और आवाजें निकालकर हाथी को भगाने की कोशिश करें। हाथी के आतंक से ग्रामीण रातभर जाग रहे हैं। 

Untitled-3 copy
1
Untitled-1 copy
Untitled-1 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here