नई दिल्ली : बंगाल की खाड़ी की ओर सक्रिय चक्रवातीय तूफान तितली का आंशिक असर बिहार में भी दिखेगा। मौसम पूर्वानुमान के मुताबिक पटना सहित बिहार के कुछ जिलों में गरज तड़क और तेज हवा के साथ बारिश हो सकती है। मौसमविदों के मुताबिक यह इसपर निर्भर करता है कि गंगेटिक पश्चिम बंगाल से उत्तर पश्चिम की ओर प्रवेश करता हुआ यह तूफान इस क्षेत्र में कितनी देर टिकता है।

चक्रवाती तूफान ‘तितली’ ने विकराल रूप धारण कर लिया है और ये ओडिशा और आंध्र प्रदेश तट पर पहुंच गया है। ओडिशा के तटीय इलाकों में इस वक्त 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। तूफान के कारण गोपालपुर और बेरहामपुर में कई पेड़ उखड़ गए हैं और लोगों का बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। तूफान का सामना करने के लिए प्रशासन ने कड़ी तैयारी की है, इसके नुकसान से बचने के लिए अलग-अलग जिलों में एनडीआरएफ 18 टीमें तैनात की गई हैं। गंजाम के गोपालपुर के पास तितली चक्रवात के कारण सुबह 5 बजकर 30 मिनट पर भूस्खलन हुआ। निचले इलाकों में रहने वाले 10,000 लोगों को बुधवार रात ही सरकारी आश्रय में भेज दिया गया है।

तितली का विकराल रूप, लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है। 

ओडिशा के तटीय इलाकों में इस वक्त 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं।गोपालपुर और बेरहामपुर में कई पेड़ उखड़ गए, तेज हवाओं का कहर जारी 

अब तक की परिस्थितियों के अनुसार उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने के बाद इस तूफान के उत्तर पूर्व की ओर बढ़ने के आसार हैं। मौसम विभाग ने गुरुवार को पटना, गया, भागलपुर और पूर्णिया के कुछ जगहों पर बारिश का पूर्वानुमान किया है। इधर, बुधवार को पटना का अधिकतम तापमान 32 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। सुबह और शाम में उमस की स्थिति बनी रही। गया का पारा 31.3, भागलपुर 32.4 और पूर्णिया का 31.4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

एक तरफ जहां ओडिशा के गोपालपुर में हवा की रफ्तार 126 किलोमीटर प्रति घंटा रही तो वहीं दूसरी तरफ आंध्र प्रदेश के कलिंगपट्टनम में हवा की गति 56 किलोमीटर प्रति घंटा दर्ज की गई। जैसे ही चक्रवाती तूफान तितली ओडिशा-आंध्र तट पर पहुंचा ओडिशा के पांच जिलों- गंजम, गजपति, पुरी, खुर्दा, जगतसिंहपुर में तेज हवा के साथ जोरदार बारिश हुई।

Untitled-3 copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here